बाल झड़ने के कारण

Make An Appointment

सच कहें तो बालों का झड़ना एक घरेलू समस्या है और बालों के झडने से परेशान हर व्यक्ति इस बात को जरूर मानता होगा कि यह घरेलू समस्या ही है पर सवाल तो यह उठता है कि बाल झड़ने की समस्या क्यों होती है? क्या बाल झड़ने की समस्या बालों में पोषण की कमी के कारण होती है या हमारी लाइफस्टाइल और खाने की आदतों के कारण होता है ? बाल एक विशेष तरह के प्रोटीन से बने होते हैं जिसे केराटिन कहा जाता है। यह केराटिन नाम प्रोटीन सिर के अंदर बालों के रोम में बनता है। जैसे ही रोम नए बालों को बनाता हैं तो वह पुरानी कोशिकाओं को स्किन की सतह के माध्यम से बाहर निकाल देता है। आप जो भी स्ट्रैंड देखते हैं वह खराब केराटिन कोशिकाओं से बना होता है। एक सामान्य व्यक्ति के सिर में लगभग 100,000 से लेकर 150,000 तक बाल होते हैं और उनमें से एक दिन में लगभग 100 बाल तक झड़ जाते हैं और बाल झड़ने के कारण कई होते हैं।

अमेरिकन हेयर लॉस एसोसिएशन के अनुसार सामान्य तरीके से बालों का झड़ना हर दिन लगभग 100-125 बाल तक होता है पर हमारा शरीर खुद ही इन बालों को बदल देता है। बालों के झड़ने की समस्या तब मानी जाती है जब गिरे हुए बाल दोबारा नहीं उग पाते हैं या जब हर दिन बालों के झडने की संख्या 125 से अधिक हो जाती है। अचानक बाल झड़ने के कारण कई होते हैं तो आइए बाल झड़ने के कारण पर चर्चा करते हैं:

शरीर में चोट लगने पर की गई सर्जरी

बाल गिरने का कारण किसी प्रकार की चोट भी हो सकती है। किसी कार दुर्घटना या किसी गंभीर बीमारी भी बाल झड़ने का कारण बन सकता है।
जिसको कि टेलोजन एफ्लुवियम कहा जाता है। अमेरिकन एकेडमी ऑफ डर्मेटोलॉजी में किए गए एक अध्ययन के अनुसार बालों के तीन अलग-अलग स्टेज होते हैं: पहला ग्रोथ फेज, रेस्ट फेज और शेडिंग फेज। जब भी किसी व्यक्ति को चोट लगती है या उसको मानसिक रुप से आघात पहुंचता है, तो शरीर बालों को बहुत अधिक झड़ने के लिए प्रेरित करता है। चोट के तीन से छह महीने के बाद बाल टूटने के कारण पता चलता है और तब हमें गंजेपन की समस्या भी महसूस होने लगती है।

गर्भावस्था के समय बालों का झडना

अब सवाल उठता है कि बाल किस कारण झड़ते है। महिलाओं के लिए बालों के के झड़ने की सबसे अधिक समस्या गर्भावस्था के लगभग तीसरे महीने के बाद होती है। गर्भावस्था के दौरान हार्मोन का बढ़ना ही हमारे बालों को झड़ने से रोकता है। गर्भवस्था के बाद हार्मोन अपने सामान्य स्तर पर वापस लौट आते हैं, जिससे बाल कम झड़ते हैं और अपने सामान्य से चक्र में वापस लौट आते हैं। अब आपको पता चल गया होगा कि महिलाओं में बाल किस कारण झड़ते हैं।

जेनेटिक कारणों से बालों का झडना

अब आप सोच रहें होंगे कि बाल झड़ने का मुख्य कारण क्या है ? डॉक्टरों की मानें तो सिर के बाल गिरने के कारण में सबसे आम जेनेटिक कारण भी होता है जिसे मेल-पैटर्न हेयरफ़ाल या फीमेल-पैटर्न हेयरफॉल कहा जाता है। यह आमतौर पर धीरे-धीरे और अनुमानके मुताबिक एक पैटर्न में ही होता है जैसे कि पुरुषों में हेयरलाइन का घटना और सिर पर गंजेपन के निशान या धब्बे पाए जाते हैं और वहीं महिलाओं में बालों का पतला होना शामिल होता है। मेल पैटर्न हेयरफॉल पुरुषों में सबसे अधिक पाया जाता है और यह उनके युवावस्था में ही शुरु हो जाता है। मेल पैटर्न में बालों के झड़ने के साथ साथ बालों का पतला होना और बालों का मुलायम और महीन होना भी शामिल है। इस समय बाल छोटे भी हो सकते हैं। तो हम कह सकते हैं कि बालों के झड़ने का कारण जेनेटिक भी होता है।

प्रोटीन की कमी का होना

आप सोच रहे होंगे कि हेयर फॉल किस कारण होता है। या बहुत ज्यादा बाल झड़ने के कारण क्या क्या होते हैं तो आपको बता दें कि इस पर शोध हो चुका है। अमेरिकन एकेडमी ऑफ डर्मेटोलॉजी में किए गए शोध की मानें तो यदि आपको अपने आहार के माध्यम से पर्याप्त प्रोटीन नहीं मिलता है तो आपके बालों के बढने की गति धीमी हो सकती है। बाल मुख्यत प्रोटीन से बने होते हैं, इसलिए बालों के स्वस्थ विकास को बनाए रखने के लिए प्रोटीन से भरपूर खाना खाने की जरूरत होती है। अगर आप प्रोटीन का सेवन नहीं करते हैं तो शरीर नए बालों का निर्माण नहीं कर सकता है। मछली, चिकन, सोया के उत्पाद या कम वसा वाला पनीर, अंडे, बादाम, बीन्स और दही जैसे खाद्य पदार्थों में प्रोटीन अच्छी मात्रा में मिलता है तो हम कह सकते हैं कि बाल झड़ने का मुख्य कारण में प्रोटीन महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

हेयर स्टाइलिंग के लिए कई प्रोडक्ट को इस्तेमाल करना

हेयर फॉल के कारण या अधिक बाल झड़ने के कारण में अलग अलग प्रोडक्टका इस्तेमाल भी शामिल है। बालों का झड़ना एक बहुत ही सामान्य सी स्वास्थ्य समस्या है। इसमें बाल बहत हल्का या पूरी तरह से भी झड़ सकते हैं। बालों का झड़ना सामान्यतः 30 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों में देखा जाता है हालांकि अब यह बहुत कम उम्र के लोगों को भी हो जा रहा है, जिसमें किशोरावस्था के लड़के भी शामिल हैं। डॉक्टर कहते हैं कि हेयर जैल, वैक्स और पोमेड के उचित तरीके से इस्तेमाल न करने के कारण बाल पतले हो सकते हैं। कर्लिंग आइरन का बहुत अधिक इस्तेमाल, बालों को अधिक दबाना, केमिकल रीबॉन्डिंग और ब्लो-ड्राई करने से भी बाल झड़ने लगते हैं। टाइट ब्रेडिंग के साथ ही गलत हेयर स्टाइल भी बालों को पतला करने के लिए जिम्मेदार हो सकता है। हेयर झड़ने के कारण में उसकी देखभाल भी महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाती है।

अब आपको बालों के झड़ने के कारण पता चल गया होगा और साथ ही अब आपको पता चल गया होगा कि न केवल आपको अपने खाने और आपके द्वारा उपयोग किए जाने वाले हेयरप्रोडक्ट को लेकर सावधान रहने की जरूरत है बल्कि उनके देखभाल के लिए भी अपने व्यस्त कार्यक्रम में से समय निकाल कर देने की जरूरत होती है। कभी भी रातोंरात बदलाव नहीं होता है। बल्कि आपको अपने बालों की देखभाल करने की जरूरत हमेशा होती है और इसके परिणाम आने वाले दिनों में आपको दिख सकते।

दवाइयों के कारण बालों का झडना

सर के बाल झड़ने के कारण या बाल झड़ने के मुख्य कारण में दवाई भी महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाती है। कुछ दवाएं बालों के विकास को रोकने का काम करती हैं और इसकी वजह से व्यक्ति सामान्य से अधिक बाल खो सकती हैं और गंजेपन की समस्या उसे हो सकती है।
बालों का झड़ना सामान्यत: कैंसर के इलाज के लिए इस्तेमाल की जाने वाली दवाओं से भी जुड़ा हुआ होता है जैसे कि कीमोथेरेपी दवाएं। कीमोथेरेपी के कारण शरीर के बाल झड़ जाते हैं। बालों का झड़ना दिल की बिमारियों और हाई ब्लड प्रेशर जैसी बिमारियों के इलाज के लिए उपयोग की जाने वाली दवाओं से भी हो सकता है। उम्मीद है अब आपको सिर से बाल झड़ने के कारण पता चल गए होंगे।

बिमारियों के कारण बालों का झडना

मधुमेह, ल्यूपस, थायरॉयड जैसे रोग और एनीमिया सहित कई प्रकार की बिमारियों के कारण भी बाल झड़ने की समस्या शुरू हो सकती है। कई प्रकार के स्किन इन्फेक्शन जैसे कि दाद अगर सिर में हो जाएगा तो यह बाल झड़ने का एक प्रमुख कारण बन सकता है।

ऑटोइम्यून बीमारी जैसे एलोपेसिया एरीटा से भी व्यक्ति के बाल झड़ सकते हैं इसमें हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली बालों के रोम पर अटैक करती है। एलोपेसिया एरीटा आमतौर पर बालों के झड़ने के साथ ही छोटे होने और गोल पैच बनने का भी कारण बनता है।

हमारा ही चयन क्यों?

Artius Clinic सबसे अच्छी हेयर ट्रांसप्लांट सेवाओं में विशेषज्ञता और लंबे अनुभव के लिए जाना जाता है। और अगर आप मुंबई में बहुत अच्छी क्वालिटी वाले, और बेहद किफ़ायती हेयर ट्रांसप्लांट करवाना चाहते हैं तो आर्टियस आपकी पहली पसंद होनी चाहिए। मुंबई में बालों के इलाज के बढ़ते खर्च के बावजूद, आर्टियस बहुत ही अच्छा परिणाम देने का काम करता है। Artius clinic का अनुभव FUE तकनीकि में बहुत अधिक हैं और यही तकनीकी बहुत ही अच्छा इलाज करने का काम करती है।

Leave a Comment

19 + four =